Enter your email address: कृपया अपने ई-मेल इनबॉक्स मे वेरिफ़िकेशन लिंक पर क्लिक करें और सब्सक्रिप्शन को वेरीफाई भी अवश्य करें

कृपया अपने ई-मेल इनबॉक्स मे वेरिफ़िकेशन लिंक पर क्लिक करें और सब्सक्रिप्शन को वेरीफाई करें
 sadhvi pragya thakur biography in hindi

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर Sadhvi Pragya Thakurनमस्कार दोस्तों आज हम बात कर रहे हैं फायर ब्रांड हिंदुत्व का चेहरा साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जी Sadhvi Pragya Thakur की आखिर कौन है साध्वी प्रज्ञा ठाकुर इतने सालों से कहां थी और अब इतनी चर्चाओं में क्यों है तो आइए जानते हैं इन सब सवालों के जवाब मध्य प्रदेश ग्वालियर भिंड के लहार कस्बे के कछवाहा गांव में जन्मी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर Sadhvi Pragya Thakur बचपन से ही बहुत निडर तथा साहसी थी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जी के पिता सीपी ठाकुर यानी चंद्र पाल ठाकुर एक आयुर्वेदिक डॉक्टर थे जोकि लहार के कछवाहा गांव में गल्ला मंडी रोड पर अपना एक क्लीनिक चलाया करते थे सी पी ठाकुर जी शुरू से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े हुए थे इसी कारण साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जी को जी हिंदुत्ववादी शिक्षा अपने पिताजी से विरासत में मिली अपने जीवन के शुरुआती पढ़ाओ से ही प्रज्ञा ठाकुर महत्वाकांक्षी रही है प्रज्ञा ठाकुर जी को शुरू से ही sadhvi pragya thakur biography in hindi साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का जीवन परिचय

 
 

मोटरसाइकिल चलाने का बड़ा शौक था साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जी कॉलेज के दिनों से ही कुछ कर गुजरने की इच्छा रखती इसी इच्छा के चलते बे अखिल भारतीय भारतीय परिषद से जुड़ी उनकी वाणी में एक अलग तरह की धार थी उसी के चलते उन्होंने बहुत जल्द ही परिषद के सक्रिय कार्यकर्ता के रूप में अपनी अलग पहचान बनाई उनके द्वारा दिए जाने वाले क्रांतिकारी भाषण सुनकर लोगों के रोंगटे खड़े हो जाया करते थे वे जहां खड़ी हो जाए महा सभाएं लग जाया करती थी उनका प्रभाव बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा था पहले लहार फिर भिंड और उनके भाषण तथा विचारों का प्रभाव बढ़ता हुआ भोपाल देवास जबलपुर और इंदौर तक जा पहुंचा उसके बाद उन्होंने परिषद को छोड़ साध्वी का रूप धारण कर लिया साध्वी का भेष धारण करने के बाद वे कई साधु-संतों के संपर्क में है तथा धार्मिक नगरी उज्जैन सहित कई नगरों में भाषण देते नजर आई। sadhvi pragya thakur biography in hindi साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का जीवन परिचय

साध्वी प्रज्ञा का शुरुआती जीवन Early life of Sadhvi Pragya-

साध्वी प्रज्ञा का शुरुआती जीवन Early life of Sadhvi Pragya-

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद कॉलेज में दाखिला लेने के बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) को ज्वाइन किया साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का झुकाव शुरू से ही आध्यात्मिक की ओर रहा इसी के चलते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा विश्व हिंदू परिषद की महिला विंग दुर्गा वाहिनी से भी जुड़ी थी वे अपने भाषणों की वजह से अक्सर सुर्खियों में रहा करती थी सन 2002 में उन्होंने जय वंदे मातरम जन कल्याण समिति का भी गठन किया और फिर वे स्वामी अवधेशानंद गिरी जी के संपर्क में आई राजनीतिक गलियारों में अवधेशानंद गिरी जी का अच्छा खासा प्रभाव था अवधेशानंद गिरी जी के संपर्क में आने के बाद प्रज्ञा जी नए अवतार में नजर आएं अवधेशानंद गिरी जी के संपर्क में आने के बाद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जी ने सन्यास ले लिया उन्होंने एक राष्ट्रीय जागरण मंच का भी गठन किया और इसी के लिए मध्य प्रदेश और गुजरात के एक शहर से दूसरे शहर जाया करती थी। sadhvi pragya thakur biography in hindi साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का जीवन परिचय झांसी की रानी लक्ष्मी बाई का जीवन परिचय शौर्य गाथा तथा इतिहास

नाम साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर
जन्मतिथि 4 अप्रैल 1988
जन्म स्थान भिंड ग्वालियर मध्य प्रदेश
पिता डॉक्टर चंद्रपाल सिंह (आयुर्वेद डॉक्टर)
बहन प्रतिभा
शिक्षा पोस्टग्रेजुएट (इतिहास )
लंबाई 5 फीट 3 इंच
वजन 60 किलोग्राम
उम्र 31 वर्ष( 2019 में)
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
राष्ट्रीयता भारतीय
धर्म हिंदू
पेशा अध्यात्म, राजनेता

साध्वी प्रज्ञा के जीवन में नया मोड़(मालेगांव ब्लास्ट)(Malegaon Blast)

29 सितंबर 2008 की रात रात 9:35 बजे महाराष्ट्र के मालेगांव में अंजुमन चौक और भीकू चौक के बीच शकील गुड्स ट्रांसपोर्ट के सामने एक धमाका होता है जिसमें 6 लोग मारे गए तथा 101 लोग घायल हुए इस धमाके में एक मोटरसाइकिल इस्तेमाल की गई थी एनआईए की रिपोर्ट के मुताबिक यह मोटरसाइकिल साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाम पर थी महाराष्ट्र एटीएस ने हेमंत करकरे के नेतृत्व में इसकी जांच की तथा रिपोर्ट में यह बताया की मोटरसाइकिल के तार गुजरात के सूरत तथा प्रज्ञा ठाकुर से जुड़े हैं पुलिस ने नासिक पुणे भोपाल तथा इंदौर में भी जांच की सेना के एक अधिकारी कर्नल प्रसाद पुरोहित और सेवानिवृत्त मेजर रमेश उपाध्याय को भी गिरफ्तार किया गया और प्रज्ञा ठाकुर को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया। sadhvi pragya thakur biography in hindi दुनिया में सात अजूबे कौन-कौन से हैं Seven Wonders Of The World In Hindi

मोटरसाइकिल तथा प्रज्ञा का कनेक्शन जब साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर मकोका लगाया गया 

एटीएस चार्ज शीट के मुताबिक प्रज्ञा के खिलाफ सबसे बड़ा सबूत प्रज्ञा के नाम पर मोटरसाइकिल का होना था इसी के चलते साध्वी प्रज्ञा को गिरफ्तार करके उनपर महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून मकोका लगाया गया। रतन टाटा जी का जीवन-परिचय

जब साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से मकोका हटाया गया When Mokoka was removed from Sadhvi Pragya Thakur-

 मालेगांव ब्लास्ट की जांच में सबसे पहले 2009 और 2011 में महाराष्ट्र एटीएस ने स्पेशल मकोका कोर्ट में दाखिल अपनी चार्जशीट में 14 अभियुक्तों के नाम दर्ज किए थे एनआईए ने जब मई 2016 में अपनी अंतिम रिपोर्ट दी तो उसमें 10 अभियुक्तों के नाम थे इस चार्जशीट में प्रज्ञा सिंह को दोषमुक्त बताया गया साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के ऊपर से मकोका हटा दिया गया और बताया गया प्रज्ञा पर हेमंत करकरे की जांच असंगत थी इसमें यह भी जिक्र हुआ कि जिस मोटरसाइकिल का जिक्र चार्जशीट में था वह प्रज्ञा के नाम पर थी लेकिन मालेगांव धमाके के 2 साल पहले से कलसांगरा इसे इस्तेमाल कर रहे थे अच्छी सेहत कैसे बनाएं सेहत बनाने के लिए रामबाण नुस्खे How to make good…
sadhvi pragya thakur biography in hindi

हालांकि इस चार्जशीट के बाद एन आई कोर्ट ने उन्हें जमानत तो दे दी लेकिन दोषमुक्त नहीं माना और दिसंबर 2017 में दिए अपने आदेश में उसने कहा साध्वी प्रज्ञा पर यूएपीए ( अनलॉफुल एक्टिविटीज प्रीवेंशन एक्ट) के तहत मुकदमा चलता रहेगा साध्वी प्रज्ञा ठाकुर अभी जमानत पर बाहर है। However, after this charge sheet, the NIA Court granted bail to him but he did not feel guilty and in his order given in December 2017, he said that Sadhvi Pragya will continue prosecution under the UAPA (Unlawful Activities Prevention Act), Sadhvi Pragya Thakur still on bail is. अनार खाने के फायदे और नुकसान अनार खाने का सही तरीका Advantages and disadvantages…

इन पर है साध्वी प्रज्ञा को फंसाने का आरोप These are allegations of trapping Sadhvi Pragya

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से बातचीत में उन्होंने बताया की कांग्रेस की तत्कालीन सरकार में गृहमंत्री पी चिदंबरम और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने उन्हें झूठे मामले में फंसाने का आरोप लगाया है। दुनिया में सात अजूबे कौन-कौन से हैं Seven Wonders Of The World In Hindi


Enter your email address: कृपया अपने ई-मेल इनबॉक्स मे वेरिफ़िकेशन लिंक पर क्लिक करें और सब्सक्रिप्शन को वेरीफाई भी अवश्य करें

कृपया अपने ई-मेल इनबॉक्स मे वेरिफ़िकेशन लिंक पर क्लिक करें और सब्सक्रिप्शन को वेरीफाई करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here