Enter your email address: कृपया अपने ई-मेल इनबॉक्स मे वेरिफ़िकेशन लिंक पर क्लिक करें और सब्सक्रिप्शन को वेरीफाई भी अवश्य करें

कृपया अपने ई-मेल इनबॉक्स मे वेरिफ़िकेशन लिंक पर क्लिक करें और सब्सक्रिप्शन को वेरीफाई करें

भारत में 12 ज्योतिर्लिंग कौन-कौन से हैं

दोस्तों नमस्कार indohindi.in पर आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है आज हम बात करेंगे कि भारत में 12 ज्योतिर्लिंग कौन-कौन से हैं तथा यह द्वादश ज्योतिर्लिंग कहां कहां स्थित है तथा इन की महत्वता क्या है जैसा कि आपको पता होगा कि देवाधिदेव महादेव हिंदू धर्म में प्रमुख एक प्रधान देव हैं ऐसा कहा जाता है कि सुबह तथा शाम को इन प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंगों के नाम के स्मरण मात्र से ही मनुष्य के समस्त पापों का नाश हो जाता है आइए आपको बताते हैं वह 12 ज्योतिर्लिंग कौन-कौन से हैं तथा कहां पर स्थित है । 12 ज्योतिर्लिंग name 12 ज्योतिर्लिंग का महत्व total jyotirlinga in india जानिए नहाने का सही तरीका और अपने आप को लकवा तथा…

भारत में 12 ज्योतिर्लिंगों के नाम Names of 12 Jyotirlingas in India

  • सोमनाथ ज्योतिर्लिंग Somnath jyotirlinga
  • मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग Mallikarjun Jyotirlinga
  • महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग Mahakaleshwar Jyotirlinga
  • ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग Omkareshwar Jyotirlinga
  • केदारनाथ ज्योतिर्लिंग Kedarnath jyotirlinga
  • भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग Bhimashankar Jyotirlinga
  • काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग Kashi Vishwanath Jyotirlinga
  • त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग Trimbakeshwar Jyotirlinga
  • वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग Vaidyanath jyotirlinga
  • नागेश्वर ज्योतिर्लिंग Nageshwar jyotirlinga
  • रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग Rameswaram Jyotirlinga
  • घृष्णेश्वर मंदिर ज्योतिर्लिंग Grishneshwar Temple Jyotirlinga

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग Somnath jyotirlinga

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग – सोमनाथ ज्योतिर्लिंग भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में सबसे पहले ज्योतिर्लिंग के रूप में स्थापित है सोमनाथ ज्योतिर्लिंग गुजरात राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र में स्थित है शिव पुराण में सोमनाथ ज्योतिर्लिंग की कथा के अनुसार चंद्र देव को प्रजापति दक्ष ने क्षय रोग होने का श्राप दिया था तो चंद्र देव ने प्रजापति दक्ष के श्राप से मुक्ति पाने के लिए सोमनाथ ज्योतिर्लिंग की स्थापना की तथा यहीं तप भी किया था यह मंदिर बहुत ऐतिहासिक है इसे कई बार विदेशी आक्रांता ओं तथा मुगलों के द्वारा तोड़ा गया तथा नुकसान पहुंचाया गया इसे करीब करीब 17 बार नष्ट किया गया तथा फिर से बनाया गया सोमनाथ ज्योतिर्लिंग सबसे पहला ज्योतिर्लिंग है। total jyotirlinga in india 12 jyotirlinga images with name and place Mehndipur balaji श्री मेहंदीपुर बालाजी मेहंदीपुर राजस्थान का रहस्य तथा इतिहास

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग Mallikarjun Jyotirlinga

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग – यह दूसरा ज्योतिर्लिंग आंध्र प्रदेश में कृष्णा नदी के तट पर श्री शैल नाम के एक पर्वत पर स्थित है पुराणों के अनुसार इस मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग की बहुत महिमा बताई गई है कहा जाता है इस ज्योतिर्लिंग के दर्शन मात्र से ही मनुष्य को उनके पापों से मुक्ति मिलती है इस मंदिर का महत्व भगवान शंकर के कैलाश पर्वत के समान बताया गया है पौराणिक कथा के अनुसार जो भी मनुष्य इस पर्वत पर आकर भगवान शिव का पूजन करते हैं उन्हें अश्वमेघ यज्ञ के समान फल की प्राप्ति होती है। total jyotirlinga in india मोटापा कम करने के 7 रामबाण उपाय Ways To Reduce Obesity

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग Mahakaleshwar Jyotirlinga

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग – महादेव भगवान का तीसरा ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश की धार्मिक राजधानी कही जाने वाली नगरी उज्जैन में स्थित है जिसको कि पुराणों में एक अलग स्थान प्राप्त है महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की मुख्य विशेषता यह है कि पूरी दुनिया में यह एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग है पुराणों के अनुसार कहा जाता है महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की पूजा विशेषकर आयु वृद्धि तथा अकाल मृत्यु को टालने के लिए की जाती है महाकालेश्वर भगवान को उज्जैन का राजा भी कहा जाता है तथा उज्जैन के वासी इनको ही अपना राजा मानते हैं। total jyotirlinga in india 12 jyotirlinga images with name and place अनार खाने के फायदे और नुकसान अनार खाने का सही तरीका Advantages and disadvantages…

ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग Omkareshwar Jyotirlinga

ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग – महादेव भगवान का यह ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध शहर इंदौर के समीप स्थित है इस ज्योतिर्लिंग को ओम्कारेश्वर बोलने के पीछे एक तार्किक कारण है क्योंकि जिस स्थान पर यह ज्योतिर्लिंग है उस स्थान पर नर्मदा नदी बहती है तथा पहाड़ी के चारों तरफ नदी बहने से एक ओम की आकृति का निर्माण होता है पुराणों में ओम का बड़ा महत्व बताया गया है तथा ओम शब्द की उत्पत्ति जगतपिता ब्रह्मा के मुख से हुई है इसलिए सभी मंत्रों वेदों के पाठ तथा धार्मिक शास्त्र ओम से ही शुरू किए जाते हैं ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग का अपना एक अलग महत्व है। झांसी की रानी लक्ष्मी बाई का जीवन परिचय शौर्य गाथा तथा इतिहास

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग Kedarnath jyotirlinga

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग – यह पांचवा ज्योतिर्लिंग उत्तराखंड में स्थित है बाबा केदारनाथ का मंदिर बद्रीनाथ के मार्ग पर स्थित है केदारनाथ के महत्व का वर्णन वेदों तथा पुराणों के द्वारा किया गया है पुराणों के अनुसार कहा गया है कि केदारनाथ ज्योतिर्लिंग धाम महादेव को अत्यंत प्रिय है कहा जाता है दुनिया में सात अजूबे कौन-कौन से हैं Seven Wonders Of The World In Hindi जिस प्रकार कैलाश पर्वत का महत्व है उसी तरह केदार क्षेत्र का भी एक अलग महत्व है केदारनाथ समुद्र तल से 3584 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। 12 jyotirlinga images with name and place

भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग Bhimashankar Jyotirlinga

भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग – यह ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र के पुणे जिले में सह्याद्रि नामक एक पर्वत पर स्थित है भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग का पुराणों में वर्णन किया गया है तथा इसकी महिमा का गान भी किया गया है संत,वैश्य,ब्राह्मण,जैन,प्याज लहसुन क्यों नहीं खाते ? ऐसा कहा जाता है जो भी इस भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग के दर्शन सुबह भगवान सूर्य के निकलने के बाद करता है उसके सात जन्मों के पापों का नाश होता है भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग को मोटेश्वर महादेव के नाम से भी जाना जाता है। total jyotirlinga in india

काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग Kashi Vishwanath Jyotirlinga

काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग – काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग भी अपना एक अलग महत्व रखता है काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग उत्तर प्रदेश के काशी (वाराणसी ) में स्थित है सभी ज्योतिर्लिंगों का अपना अपना महत्व है लेकिन काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग को पुराणों में एक विशेष स्थान दिया गया है इसी कारण यह अन्य सभी धार्मिक स्थलों से ज्यादा महत्व भी रखता है काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग के बारे में कहा गया है कि प्रलय आने पर भी यह स्थान ऐसे ही सुरक्षित रहेगा क्योंकि इसकी रक्षा के लिए भगवान शिव इस स्थान को अपने त्रिशूल पर धारण कर लेंगे और प्रलय टल जाने के बाद काशी को उसके स्थान पर वापस रख देंगे। 12 jyotirlinga images with name and place

त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग Trimbakeshwar Jyotirlinga

त्रंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग – त्रंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग गोदावरी नदी के तट पर महाराष्ट्र के नासिक जिले में स्थापित है इस ज्योतिर्लिंग के निकट ही ब्रह्मागिरी नाम का एक पर्वत है जहां से गोदावरी नदी का उद्भव होता है भगवान शिव का एक नाम त्रंबकेश्वर भी है पौराणिक कथाओं के अनुसार कहा जाता है कि गौतम ऋषि तथा मां गोदावरी के आग्रह पर देवाधिदेव महादेव को त्रंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग के रूप में यहां रहना पड़ा था।

वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग Vaidyanath jyotirlinga

वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग – वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग झारखंड राज्य के संथाल परगना के दुमका नामक जनपद में स्थित है यह स्थान पहले बिहार प्रांत में पड़ता था वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग नौवां ज्योतिर्लिंग है बैधनाथ ज्योतिर्लिंग को भी पुराणों में समस्त दुख तथा बाधाएं हरने वाले स्वामी के रूप में बताया गया है। 12 jyotirlinga images with name and place

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग Nageshwar jyotirlinga

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग – नागेश्वर ज्योतिर्लिंग गुजरात के द्वारिका में स्थित है द्वारिकापुरी से नागेश्वर ज्योतिर्लिंग की दूरी 17 किलोमीटर की है नागेश्वर का पूर्ण अर्थ होता है नागों का ईश्वर तथा महादेव भगवान को नागों का देव भी कहा जाता है नागेश्वर ज्योतिर्लिंग का वेदों पुराणों में भी वर्णन मिलता है कहा गया है कि जो भी व्यक्ति सांसारिक सुखों के साथ अपनी सभी भौतिक जरूरतों को पूरी करना चाहता है पूर्ण श्रद्धा तथा भक्ति के साथ नागेश्वर महादेव के दर्शन करने पर उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। क्यों इंडोनेशिया के नोटों पर भगवान गणेश की फोटो होती है…

रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग Rameswaram Jyotirlinga

रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग – रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग तमिलनाडु राज्य के रामनाथपुरम नामक स्थान पर स्थित है रामेश्वरम को हिंदू धर्म तथा वेद पुराणों में एक विशेष स्थान प्राप्त है क्योंकि यहां पर ज्योतिर्लिंग के साथ-साथ रामेश्वरम को चार धामों में भी एक स्थान दिया गया है इसलिए रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग का महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है पौराणिक कथाओं के अनुसार रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग की स्थापना भगवान श्री रामचंद्र जी ने स्वयं अपने हाथों से की थी इस कारण इस ज्योतिर्लिंग को रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग नाम दिया गया है। क्या करेंगे आप ? अगर चलती ट्रेन से आपका कीमती सामान नीचे गिर जाए तो । जो आप सोच रहे हैं वह बिल्कुल गलत है

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग Grishneshwar Jyotirlinga

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग – घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग महादेव का मंदिर महाराष्ट्र के संभाजी नगर के समीप दौलताबाद के पास स्थित है इसे घृष्णेश्वर तथा घुश्मेश्वर के नाम से भी जाना जाता है सभी ज्योतिर्लिंगों में यह महादेव भगवान का 12वां ज्योतिर्लिंग है यहीं पर एकनाथ गुरु जी वा जनार्दन महाराज की समाधि भी स्थित है घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग का पौराणिक महत्व भी काफी है दूर-दूर से यहां लोग दर्शन करने आते हैं। 12 jyotirlinga images with name and place

arthik azadi A नाम वाले लोग cbi and cid difference in hindi cross selling DigiLocker DigiLocker in hindi esic के फायदे esic क्या है fashion Impulse Items liver in hindi lord ganesh on indonesia currency mens underwear type in hindi naam ke anusar bhavishya PLU CODES ramayan aur ramcharitmanas me antar ramayan katha retail in hindi r नाम वाले लोग stylish mens underwear types of income in hindi up-selling cross selling What Do The Numbers On Fruit Stickers Mean what is CBI what is CID अंकुरित आलू खाने के नुकसान आखिर फलों के ऊपर स्टिकर क्यों लगे होते हैं इक्विटी फंड कवि अमन अक्षर कविता कस्टमर तथा कंजूमर में क्या अंतर होता है क्यों इंडोनेशिया के नोटों पर भगवान गणेश की फोटो होती है जेनेरिक दवा क्या है नाम वाले व्यक्ति पुरुषों के अंडरवियर कितने प्रकार के होते हैं पैसा छापने के नियम मुरारी बापू के विचार म्यूचुअल फंड म्यूचुअल फंड के प्रकार राम के सभी पूर्वजों के नाम रेसिपी वाहिद अली वाहिद शायरी हिंदू धर्म हिंदू धर्म में सोलह संस्कार

Enter your email address: कृपया अपने ई-मेल इनबॉक्स मे वेरिफ़िकेशन लिंक पर क्लिक करें और सब्सक्रिप्शन को वेरीफाई भी अवश्य करें

कृपया अपने ई-मेल इनबॉक्स मे वेरिफ़िकेशन लिंक पर क्लिक करें और सब्सक्रिप्शन को वेरीफाई करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here